अहलेबैत (अ) वर्ल्ड एसेम्बली के सदस्य मौलाना मकसूद रिजवी कश्मीरी नहीं रहे।

  • News Code : 801550
  • Source : अबना
Brief

अहलेबैत (अ) वर्ल्ड एसेम्बली के सदस्य और कश्मीर के इमाम रेज़ा अलैहिस्सलाम मदरसे के प्रिंसिपल हुज्जतुल इस्लाम वल मुसलेमीन मौलाना सैयद मकसूद अली रिजवी हार्ट अटैक की वजह से ईरान के कुम शहर में एक अस्पताल में इस दुनिया से कूच कर गए।

अहलेबैत (अ) न्यूज़ एजेंसी अबना: अहलेबैत (अ) वर्ल्ड एसेम्बली के सदस्य और कश्मीर के इमाम रेज़ा अलैहिस्सलाम मदरसे के प्रिंसिपल हुज्जतुल इस्लाम वल मुसलेमीन मौलाना सैयद मकसूद अली रिजवी हार्ट अटैक की वजह से ईरान के कुम शहर में एक अस्पताल में इस दुनिया से कूच कर गए।
स्वर्गीय मौलाना का शुमार भारत प्रशासित कश्मीर के बुजुर्ग और सक्रिय उल्मा में होता था आपने कश्मीर में धार्मिक शिक्षाओं को बढ़ावा देने और इस्लामी क्रांति से लोगों को परिचित कराने में काफी कोशिश की।
आपने नजफ अशरफ में पढ़ाई करने के बाद ईरान के इस्लामी इंक़ेलाब की सफलता के शुरू में क़ुम मुक़द्दस का रुख किया और क़ुम में दीनी तालीम को जारी रखा। पढ़ाई पूरी करने के बाद कश्मीर में इमाम रेज़ा अलैहिस्सलाम मदरसे की आधारशिला डाली और बीस पच्चीस साल से इस मज़हबी संस्था में प्रिंसिपल की ज़िम्मेदारी अंजाम दी, कश्मीरी जनता में धार्मिक जागरूकता को जगाने में आपकी संस्था ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, साथ ही साथ आज से दस साल पहले मौलाना ने क़ौम की बेटियों के लिए एक उच्च कॉलेज जामिया अल ज़हरा (स) के नाम से बनाया, यह दोनों स्ंस्थाएं कश्मीर में विशेष महत्व रखती हैं, इन मदरसों में दीनी तालीम के अलावा छात्र-छात्राओं को आधुनिक विज्ञान की शिक्षा भी दी जाती है।
अहलेबैत (अ) न्यूज़ एजेंसी अबना मरहूम के निधन पर उनके परिजनों और कश्मीर के सभी उल्मा और जनता की सेवा में संवेदना प्रकट करती है।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Quds cartoon 2018
We are All Zakzaky