सीरिया में अमरीका की सैन्य उपस्थिति ग़ैर क़ानूनीः जाफ़री

सीरिया में अमरीका की सैन्य उपस्थिति ग़ैर क़ानूनीः जाफ़री

बश्शार जाफ़री ने सीरिया में अमरीकी सैन्य उपस्थिति को ग़ैर क़ानूनी बताया है।

संयुक्त राष्ट्रसंघ में सीरिया के स्थाई प्रतिनिधि बश्शार जाफ़री ने सुरक्षा परिषद की बैठक में बताया है कि अमरीकी नेतृत्व वाले तथाकथित दाइश विरोधी गठबंधन ने अबतक सीरिया में हज़ारों लोगों की हत्याएं की हैं।  उन्होंने अमरीका और उसके घटकों को सीरिया में सक्रिय आतंकवादी गुटों का समर्थक बताया।  जाफ़री ने इस बैठक में सुरक्षा परिषद से मांग की है कि वह अमरीकी गठबंधन की कार्यवाहियों को तत्काल रुकवाने के लिए क़दम उठाए।  उन्होंने सीरिया की सेना पर रासायनिक शस्त्रों के प्रयोग के आरोप को मनगढंगत बताते हुए कहा है कि दमिश्क़ ने कभी भी रासायनिक शस्त्रों का प्रयोग नहीं किया है।

ज्ञात रहे कि इससे पहले सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद कह चुके हैं कि पश्चिम ने सीरिया पर हमले की भूमिका प्रशस्त करने के उद्देश्य से दमिश्क़ पर रासायनिक शस्त्रों के प्रयोग का षडयंत्र रचा है।  उन्होंने कहा कि इस षडयंत्र को सामान्यत उस समय पेश किया जाता है कि सीरिया की सेना के हाथों आतंकवादियों को भारी पराजय का सामना करना पड़ता है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky