क्या नुस्रा फ़्रंट का सरग़ना अंतिम सांस तक गुट से जुड़ा रहेगा?

क्या नुस्रा फ़्रंट का सरग़ना अंतिम सांस तक गुट से जुड़ा रहेगा?

आतंकवादी संगठन नुस्रा फ़्रंट के पूर्व कमान्डर सालेह हम्मूदी का कहना है कि मुहम्मद अलजौलानी की कामना यह है कि बाक़ी बचा जीवन व्यापार करके बिताए।

नुस्रा फ़्रंट से अलग होने वाले इस पूर्व कमान्डर का कहना है कि नुस्रा फ़्रंट के सरग़ना मुहम्मद अलजौलानी का दुनिया के विभिन्न देशों में लगभग 200 अरब डाॅलर की पूंजी है।

यद्यपि पूरी दुनिया की नज़र शुक्रवार को होने वाली तेहरान बैठक पर लगी हुई है ताकि देखें कि इदलिब के बारे में क्या फ़ैसला होता है और इस क्षेत्र में मौजूद आतंकवादियों को यह पता चलना चाहिए कि उनके सरग़ना मुहम्मद अलजौलानी को व्यापार और दूसरे देशों में पूंजीनिवेश से में अधिक रुचि है और उसमें इदलिब पर हमला होने की स्थिति में किसी भी प्रकार के युद्ध को जारी रखने का कोई इरादा नहीं है और नुस्रा फ़्रंट के बीच काफ़ी मतभेद पैदा हो गया है।

मुहम्मद अलजौलानी का दूसरा देशों में पूंजीनिवेश और व्यापार में रुचि से पता चलता है कि सीरिया युद्ध के दौरान उसका सीरिया से बाहरी दुनिया, असद सरकार के विरोधियों और दूसरे देशों से जो उसके हितों को पूरा करते हैं, से बहुत संपर्क रहा है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky