सूडान में महंगाई के विरोध में प्रदर्शन।

सूडान में महंगाई के विरोध में प्रदर्शन।

2011 में सूडान राजनीति में बदलाव हुआ और आले सऊद ने उमर अलबशीर को सुहाने सपने दिखाए, लेकिन अपने वादों पर अमल नहीं किया जिससे आज सूडान संकट का शिकार है।

अहलेबैत (अ ) न्यूज़ एजेंसी अबनाः प्राप्त सूत्रों के अनुसार नववर्ष की शुरुआत के साथ ही सूडान में हर तरफ़ से प्रदर्शनों का खत्म न होने वाला सिलसिला शुरू हो चुका है।
सूडान के राष्ट्रपति उमर अलबशीर ने सूडान के आर्थिक क़ानून में बदलाव किए हैं, जो अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक फंड के क़ानूनों के अनुरूप हैं।
हालांकि अमेरिका ने सूडान को अपने आर्थिक सिस्टम में यह बदलाव करने पर वादा किया था, जिससे सूडानी पार्लियमेंट की ओर से हुए बदलाव से इस देश में कुछ चीजों की क़ीमतों में बदलाव आया है, और कीमतें बढ़ गई हैं।
ज्ञात रहे कि सूडान सऊदी अरब का एक सहयोगी देश है जिसके आंतरिक एवं विदेशी राजनीति और यहां तक कि उनके आंतरिक मामलों में भी सऊदी अरब के बादशाह का हस्तक्षेप रहता है।
2011 में सूडान राजनीति में बदलाव हुआ और आले सऊद ने उमर अलबशीर को सुहाने सपने दिखाए, लेकिन अपने वादों पर अमल ना किया जिससे आज सूडान संकट का शिकार है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky