बौद्ध समुदाय ने स्वीकाराः

हमने सेना के इशारों पर मुसलमानों का किया नरसंहार।

हमने सेना के इशारों पर मुसलमानों का किया नरसंहार।

हत्या में शामिल बौद्धों और फौज के जवानों ने रोहिंग्या मुुसलमानों के खिलाफ हत्या में शामिल होने के साथ खुद गड्ढे खोदकर दफनाने तक की प्रक्रिया में हाथ होने की बात स्वीकार की है....

अबनाः संयुक्त राष्ट्र ने म्यांमार में दस रोहिंग्या मुसलमानों की हत्या और बाद में एक ही कब्र में दफना देने वाली घटना को चिंताजनक बताया है जो पिछले साल दो सितंबर को म्यांमार के गांव में हुई। राज्य में हिंसा की पूरी जांच के की तत्काल आवश्यकता है। संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता फरहान हक ने पिछले सप्ताह संवाददाताओं से कहा कि इस वारदात को अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी रायटर्स ने कवर किया था।
एजेंसी के मुताबिक पहली बाहर इस रिपोर्ट में हत्या में शामिल बौद्धों और फौज के जवानों से बातचीत की गई है। सभी ने रोहिंग्या के खिलाफ हत्या में शामिल होने के साथ खुद गड्ढे खोदकर दफनाने तक की प्रक्रिया में हाथ होने की बात स्वीकार की है। हम इस नवीनतम रिपोर्ट से अवगत हैं, जिनके विवरण बहुत खतरनाक हैं।
बौद्ध समुदाय के एक 55 वर्षीय रिटायर्ड सैनिक सोई चय ने रायटर्स से कहा, ‘एक कब्र में 10 रोहिंग्या को दफनाया गया। उन्होंने हत्याएं होती देखीं और गड्ढे खोदने में मदद की। सैनिकों ने प्रत्येक व्यक्ति को दो से तीन बार गोली मारी। यहां तक कि कई ऐसे रोहिंग्या को भी दफनाया जा रहा था जो कि आवाज कर रहे थे। जबकि बाकी मर चुके थे।’


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky