सीरिया में गरजे ईरानी मिसाइल .... या हुसैन के नारे के साथ जुल्फिक़ार की मार से भगदड़

सीरिया में गरजे ईरानी मिसाइल .... या हुसैन के नारे के साथ जुल्फिक़ार की मार से भगदड़

इस्लामी गणतंत्र ईरान के क्रांति सरंक्षक बल आईआरजीसी ने अहवाज़ हमले के ज़िम्मेदारों को सीरिया में निशाना बनाया।

आईआरजीसी ने एक बयान जारी करके बताया है कि 22 सितम्बर को अहवाज़ में आतंकी हमले के बाद जिसमें ईरान के निर्दोष व निहत्थे  23 लोग शहीद और 69 घायल हुए थे, क्रांति सरंक्षक बल ने सोमवार तड़के, सीरिया में फुरात नदी के पूर्वी तट पर अमरीका समर्थित आतंकवादियों के ठिकाने पर मिसाइल हमला किया है। 

बयान में बताया गया है कि इस अभियान में पश्चिमी ईरान में स्थित आईआरजीसी की मिसाइल छावनी से मध्यम दूरी की मार करने वाले 6 मिसाइल दागे गये और उसके बाद आईआरजीसी के 7 ड्रोन विमानों ने साम्राज्यवादियों के एजेन्ट इन आतंकवादियों के ठिकाने पर बमबारी भी की जिसमें अभी तक दसियों आतंकवादियों और उनके सरगनाओं के मारे जाने की सूचना है। 

फार्स न्यूज एजेन्सी ने बताया है कि  सीरिया में आतंकियों के ठिकाने पर फायर किये जाने वाले मिसाइल, " जुल्फिक़ार "  और " क़ेयाम "  मॅाडल के थे। 

फार्स न्यूज़ एजेन्सी ने बताया कि यह कार्यवाही रात दो बजे की गयी, अभियान का नाम " ज़रबते मुहर्रम" और अभियान का कोड, " या हुसैन" था 

 सभी मिसाइलों ने   ईरान से सीरिया  में  अपने  लक्ष्य को भेदने के लिए 570 किलोमीटर की दूरी तय की। 

फार्स न्यूज़ एजेन्सी के रिपोर्टर ने बताया है कि कम से एक एक मिसाइल पर, " अमरीका मुर्दाबाद, इस्राईल मुर्दाबाद और आले सऊद मुर्दाबाद" के नारे और कुरआने मजीद की यह आयत लिखी थी कि शैतान के चाहने वालों से युद्ध करो।




अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky