सीरिया को एस-300 मिसाइल डिफ़ेन्स सिस्टम की सप्लाई का काम पूरा, पुतीन ने वादा पूरा किया, कब आग का गोला बनेगा इस्राईली युद्धक विमा

सीरिया को एस-300 मिसाइल डिफ़ेन्स सिस्टम की सप्लाई का काम पूरा, पुतीन ने वादा पूरा किया, कब आग का गोला बनेगा इस्राईली युद्धक विमा

मंगलवार को रूस के रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शुइगो ने बयान दिया कि रूस से सीरिया को एस—300 मिसाइल डिफ़ेन्स सिस्टम की सप्लाई का काम मुकम्मल हो गया है।

यह एलान एक चरण के ख़त्म होने और दूसरे के शुरू होने का चिन्ह है। जो चरण ख़त्म हुआ है वह सीरिया की वायु सीमा में इस्राईली विमानों की घुसपैठ का चरण है। और जो चरण शुरू हुआ है वह सीरियाई वायु रक्षा प्रणाली के रोब और धौंस का चरण है।

इस्राईली हल्क़ों पर इस समय जो ख़ामोशी छायी हुई है, इस्राईली प्रधानमंत्री नेतनयाहू तथा अन्य जनरलों के होंट सिल गए हैं वह गहरी चिंता का चिन्ह है।

इस्राईली युद्ध मंत्री एविग्डर लेबरमैन बयान दे चुके हैं कि सीरिया के भीतर ईरानी ठिकानों पर इस्राईली विमानों की बमबारी जारी रहेगी और धमकी नेतनयाहू भी दोहरा चुके हैं मगर जब से सीरियाई वायु सीमा में रूस का एल्यूशिन-20 विमान इस्राईली चालबाज़ी के कारण सीरियाई मिसाइल का निशाना बनकर गिरा है उसके बाद से किसी भी इस्राईली विमान ने सीरिया के भीतर कोई हमला करने की हिम्मत नहीं की है।

रूस ने सीरिया को केवल एस-300 मिसाइल डिफ़ेन्स सिस्टम ही नहीं दिया बल्कि यह भी कहा है कि सीरियाई वायु सीमा के क़रीब आने वाले इस्राईली विमानों पर पैराज़िट अटैक किया जाएगा। अब इस्राईली विमानों के लिए सीरियाई की वायु सीमा में उड़ान भरना मुश्किल हो गया है क्योंकि इस्राईल को अब रूस से सीधा टकराव हो जाने का डर है। इस्राईल के भीतर नेतनयाहू और लेबरमैन की बड़ी फ़ज़ीहत हो रही है कि उन्होंने अपनी ग़लत नीतियों से रूस से इस्राईल के संबंधों को संकट की खाई में ढकेल दिया है।

इस्राईल में सैनिक नेतृत्व को सबसे अधिक इस बात की चिंता है कि ईरान की मिसाइल शक्ति बहुत तेज़ी से बढ़ती जा रही है और केवल इन मिसाइलों की मारक दूरी और विध्वंसक क्षमता ही नहीं बढ़ रही है बल्कि बड़ी सफलता और सूक्ष्मता से अपने टारगेट को ध्वस्त करने ताक़त अपने चरम पर पहुंच गए हैं। यह बारीकी और सूक्ष्मता पिछले चालीस दिनों के भीतर ईरान के दो मिसाइल हमलों में साफ़ नज़र आई है।

पहला हमला वह था जो इराक़ी कुर्दिस्तान के अरबील शहर में ईरानी चरमपंथी कुर्द संगठन के ठिकाने पर किया गया। ईरान ने लगभग एक महीना पहले चार मिसाइलों से यह हमला किया। एक मिसाइल चरमपंथी संगठन के मुख्यालय की इमारत पर गिरा और तीन मिसाइल उसके सामने गिरे।

दूसरा हमला वह था जिसमें ईरान ने 750 किलोमीटर की रेंज वाले मिसाइल और ड्रोन विमान प्रयोग किए। यह हमला सीरिया के सीमावर्ती नगर अलबू कमाल के निकट दाइश के ठिकाने पर किया गया। यह हमला दक्षिण पश्चिमी ईरान के अहवाज़ नगर में सैनिक परेड पर आतंकी हमले के जवाब में किया गया। अहवाज़ नगर में 22 सितम्बर के हमले की ज़िम्मेदारी दाइश ने स्वीकार की थी।

यह बात तो बिल्कुल स्वाभाविक है कि इस्राईली और अरब गलियारे सीरिया को एस-300 मिसाइल सिस्टम दिए जाने को बिल्कुल मामूली परिवर्तन बताएंगे क्योंकि वह सीरियो विरोधी मोर्चे का हिस्सा हैं। इस्राईली मीडिया में कुछ विशेषज्ञ यह लिख और कह रहे हैं कि इस्राईल ने अमरीका से कहा है कि वह एफ़-16 युद्धक विमानों में लगे सिस्टम को इस तरह अपग्रेड करे कि यह विमान रूस के एस-300 मिसाइल डिफ़ेन्स सिस्टम से सुरक्षित रहें या हमलों के लिए एफ़-35 विमानों का प्रयोग किया जाए। मगर अमरीका के भीतर मौजूद विशेषज्ञों का कहना है कि एफ़-35 युद्धक विमान तो अब तक अमरीका ने भी प्रयोग नहीं किया है और वह हरगिज़ इस्राईल को अनुमति नहीं देगा कि इस विमान को हवाई हमलों में प्रयोग किया जाए। कुछ महीने पहले जो ख़बरें आ रही थीं कि इस्राईल ने एफ़-35 विमान से हमला किया है वह निराधार हैं।

सीरिया राजनैतिक पटल पर ही नहीं बल्कि सामरिक क्षेत्र में भी अपनी शक्तिशाली पोज़ीशन की ओर लौट रहा है। सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद ने कुवैत के अख़बार अश्शाहिद के साथ साक्षात्कार में जो कहा कि अरब तथा अन्य देशों के कूटनयिकों की लंबी लाइन है जो दमिश्क़ में अपने दूतावास पुनः खोलना चाहते हैं, वह बिल्कुल सत्य है। संयुक्त राष्ट्र संघ के न्यूयार्क मुख्यालय में सीरियाई विदेश मंत्री से बहरैन के विदेश मंत्री का गले मिलना इसका एक उदहारण है।

हमें प्रतीक्षा है उस दिन की जब सीरियाई वायु सीमा का उल्लंघन करने वाले इस्राईली युद्धक विमान पर एस-300 सिस्टम का पहला मिसाइल झपटकर हमला करेगा और इस्राईली युद्धक विमान से धुएं के बादल और आग की लपटें निकलेंगी। हमें नहीं लगता कि हमारी यह प्रतीक्षा ज़्यादा लंबी खिंचेगी। बाक़ी अल्लाह बेहतर जानता है।

अब्दुल बारी अतवान

अरब जगत के विख्यात लेखक व टीकाकार


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky