तेहरान शिखर वार्ता का घोषणापत्र जारी, सीरिया की अखण्डता की सुरक्षा पर बल

तेहरान शिखर वार्ता का घोषणापत्र जारी, सीरिया की अखण्डता की सुरक्षा पर बल

तेहरान में आयोजित ईरान, रूस और तुर्की के राष्ट्राध्यक्षों की शिखर वार्ता के घोषणापत्र में सीरिया की एकता और उसकी संप्रभुता के प्रति कटिबद्धता प्रकट की गई है।

ईरान, रूस और तुर्की के राष्ट्रपति ने शुक्रवार को तेहरान में आयोजित होने वाली त्रिपक्षीय वार्ता के समापन पर सीरिया की एकता, उसकी अखण्डता और स्वावलंबन के सम्मान पर बल दिया गया।

डाक्टर हसन रूहानी, विलादिमीर पुतीन और रजब तैयब अर्दोग़ान ने 12 सूत्रीय संयुक्त घोषणापत्र जारी करके सीरिया से आतंकवाद के सफाए पर बल दिया।  इस संयुक्त घोषणापत्र में आया है कि सीरिया संकट का समाधान किसी भी स्थिति में सैन्य मार्ग से संभव नहीं है।  घोषणापत्र के अनुसार इस संकट का समाधान केवल कूटनीति के माध्यम से भी संभव है।  तीनों राष्ट्रपतियों ने सूचि वार्ता और सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव क्रमांक 2254 के सुझावों को आगे बढ़ाने पर बल दिया।

तेहरान बैठक में भाग लेने वाले ईरान, रूस और तुर्की के राष्ट्रपतियों ने सीरिया के विस्थापितों की स्वदेश वापसी के लिए की जाने वाली सहायता में सहयोग की भी बात कही है ताकि वे लोग शांतिपूर्ण ढंग से जीवन गुज़ार सकें।  उन्होंने विश्व समुदाय विशेषकर संयुक्त राष्ट्रसंघ और मानवताप्रेमी संगठनों से मांग की है कि वे मानवताप्रेमी सहायता के साथ ही वहां के मूलभूत ढांचे के सुधार में भी सहयोग करें।

ज्ञात रहे कि शुक्रवार को तेहरान में सीरिया के विषय पर ईरान, रूस और तुर्की के राष्ट्रपतियों की उपस्थिति में एक संयुक्त बैठक आयोजित हुई। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky