ट्रंप का क़ुद्स शहर को इस्राइल की राजधानी घोषित करना अरब देशों से सहमति के बाद हुआः इस्राइली मंत्री

ट्रंप का क़ुद्स शहर को इस्राइल की राजधानी घोषित करना अरब देशों से सहमति के बाद हुआः इस्राइली मंत्री

ज्ञात रहे कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कल एक समारोह को संबोधित करते हुए इस्लामी जगत की इच्छाओं को रौंदते हुए बैतुल मुक़द्दस को अवैध ज़ायोनी राज्य की राजधानी के तौर पर घोषित कर दिया, एवं अमेरिका के दूतावास को तेल अवीव से इस शहर में शिफ़्ट करने का निर्णय ले लिया है, जिसका समस्त इस्लाम जगत विरोध कर रहा है।

अहलेबैत (अ )न्यूज़ एजेंसी अबना : प्राप्त सूत्रों के अनुसार अन्नशरा की रिपोर्ट में कहा गया है कि ज़ायोनि मंत्री यसराइल काट्ज़ ने ख़ुलासा किया है कि अमेरिका ने तिल अवीव से क़ुद्स शहर में अपने दूतावास को शिफ़्ट करने का फै़सला कुछ अरब देशों और उनके शासकों के साथ आपसी सहमति के बाद लिया है।
 इस ज़ायोनि मंत्री ने अपने सरकारी चैनल 10 के द्वारा एलान किया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह फ़ैसला कि तिल अवीव से अपने दूतावास को कुद्स शहर में शिफ्ट करेंगे यह उनका अचानक लिया जाने वाला निर्णय नहीं है, अपितु उन्होंने पहले कुछ अरब देशों के प्रमुख से बातचीत की जब उन्हें यह विश्वास हो गया कि वो फ़िलिस्तीनियों की ओर से होने वाले विरोध से निपट लेंगे तब कहीं जाकर इसका ऐलान किया।
  काट्ज़ ने अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्णय पर सऊदी अरब के बारे में कहा कि रियाद के इस्राइल के साथ कुछ लाभ निहित हैं, विशेषकर ईरान सऊदी और इस्राइल का शत्रु है अतः सऊदी सरकार की आपसी सहमति ट्रंप के इस फैसला लेने में मददगार साबित हुई।
 ज्ञात रहे कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कल एक समारोह को संबोधित करते हुए इस्लामी जगत की इच्छाओं को रौंदते हुए बैतुल मुक़द्दस को अवैध ज़ायोनी राज्य की राजधानी के तौर पर घोषित कर दिया, एवं अमेरिका के दूतावास को तेल अवीव से इस शहर में शिफ़्ट करने का निर्णय ले लिया है, जिसका समस्त इस्लाम जगत विरोध कर रहा है।



सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Quds cartoon 2018
We are All Zakzaky