ईरान सहित दुनिया के अधिकतर देशों में मोहर्रम शुरू, इमाम हुसैन (अ) के चाहने वालों की आंखें हुई नम

ईरान सहित दुनिया के अधिकतर देशों में मोहर्रम शुरू, इमाम हुसैन (अ) के चाहने वालों की आंखें हुई नम

इस्लामी गणतंत्र ईरान सहित दुनिया के अधिकांश देशों में इस्लामी कैलेंडर के पहले महीने मोहर्रम का चांद नज़र आ गया है जिसके बाद पैग़म्बरे इस्लाम (स) के नाती हज़रत इमाम हुसैन (अ) और कर्बला के अन्य शहीदों की याद में मनाए जाने वाले शोक कार्यक्रमों का आरंभ हो गया है।

मोहर्रम का चांद जैसे ही दिखाई देता है पूरी दुनिया की तरह ईरान में भी शहीदों के सरदार हज़रत इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम और उनके वफ़ादार साथियों द्वारा इस्लाम और इंसानियत के लिए दिए गए बलिदान की याद में शोक सभाओं और ग़म के जलूसों का आरंभ हो जाता है। इस समय दुनिया के ज़्यादातर भागों में अज़ान के साथ-साथ एक और आवाज़ सुनाई दे रही है और वह है “या हुसैन” की आवाज़। इराक़ के पवित्र नगर करबला से हमारे संववाददाता की रिपोर्ट के अनुसार इस समय देश विदेश से हज़ारों की संख्या में इमाम हुसैन (अ) के श्रद्धालु करबला में मौजूद हैं हर ओर से या हुसैन की आवाज़ आ रही है जिसको कई किलोमीटर दूरी से भी सुना जा सकता है।

ईरान के पवित्र शहर मशहद में स्थित इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के रौज़े, क़ुम में उनकी बहन हज़रते मासूम के रौज़े, तेहरान में हज़रत शाह अब्दुल अज़ीम हसनी और शीराज़ में हज़रत अहमद इब्ने मूसा शाह चिराग़ के रौज़ों में भी हज़ारों की संख्या में इमाम हुसैन (अ) के श्रद्धालु एकत्रित हैं और बड़ी-बड़ी शोक सभाओं का आयोजन हो रहा है।

इस बीच भारत और पाकिस्तान से भी ख़बरें आ रही हैं कि वहां भी इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम के चाहने वालों ने मोहर्रम के मद्देनज़र काले कपड़े पहन लिए गए हैं इमामबाड़ों में शहीदे इंसानियत की याद में फ़र्श बिछ गए हैं और घरों से या हुसैन या हुसैन की आवाज़ें आने लगी हैं। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky