अमरीका पत्रकार ख़ाशुक़जी की स्थिति के बारे में पूछता रहेगा का मतलब यह है कि अब सऊदी अरब की ख़ैर नहीं!!!

अमरीका पत्रकार ख़ाशुक़जी की स्थिति के बारे में पूछता रहेगा का मतलब यह है कि अब सऊदी अरब की ख़ैर नहीं!!!

पत्रकार की संभावित हत्या पर पोम्पियो, कुश्नर और बोल्टन ने मोहम्मद बिन सलमान से बात की है।

ट्रम्प प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान से सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी के लापता होने के बारे में बात की है।

अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन और राष्ट्रपति ट्रम्प के दामाद जेरेड कुश्नर ने लापता पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी के बारे में बात की। उसके बाद अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी सऊदी अरब के वास्तविक शासक मोहम्मद बिन सलमान से बात की।

दोनों अधिकारियों ने ख़ाशुक़जी के बारे में और अधिक जानकारी दिए जाने तथा ख़ाशुक़जी की जांच प्रक्रिया के पारदर्शी रहने की मांग की।

उधर वाइट हाउस की प्रवक्ता सारह हकबी ने कहा है कि अमरीका पत्रकार ख़ाशुक़जी की स्थिति के बारे में पूछता रहेगा।

ग़ौरतलब है कि जमाल ख़ाशुक़जी को जो सऊदी शासन के ख़िलाफ़ समझे जाते थें, आख़री बार पिछले हफ़्ते तुर्की के इस्तांबोल शहर में स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास की इमारत में जाते हुए देखा गया जहां तुर्क अधिकारियों के अनुसार, उन्हें क़त्ल कर दिया गया। यह वह इल्ज़ाम है जिसका सऊदी अधिकारी इंकार करते हैं।

तुर्क दैनिक अख़बार ‘सबाह’ ने सऊदी गुप्तचर सेवा के उन अधिकारियों की पहचान ज़ाहिर की है जो विदित रूप से रियाज़ से दो निजी विमानों से इस्तांबोल गए और 2 अक्तूबर को जैसे ही ख़ाशुक़जी सऊदी वाणिज्य दूतावास में दाख़िल हुए वे भी दाख़िल हुए थे।

ख़ाशुक़जी के रहस्यमय ढंग से लापता होने की वजह से वॉशिंग्टन में सऊदी दूतावास के बाहर प्रदर्शन हुए जहां कार्यकर्ताओं ने लापता पत्रकार के लिए न्याय की गुहार लगायी।

कई अमरीकी सेनेटरों ने भी जांच तथा सऊदी अरब के ख़िलाफ़ संभावित पाबंदी की मांग की है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky