मौलाना कल्बे जवाद:

22 दिसम्बर को पूरे देश में क़ुद्स रक्षा दिवस मनाया जाएगा।

22 दिसम्बर को पूरे देश में क़ुद्स रक्षा दिवस मनाया जाएगा।

फ़िलिस्तीन पर लगातार जारी इस्राईली अत्याचार और बैतुल मुक़द्दस को इस्राईल की राजधानी बनाने के अमेरिकी घोषणा के विरुद्ध मजलिसे उल्माए हिंद की अपील पर 22 दिसंबर जुमे को पूरे देश में “यौमे तहफ़्फ़ुज़े क़ुद्स” (क़ुद्स रक्षा दिवस) मनाया जाएगा।

अहलेबैत न्यूज़ ऐजेंसी अबना: प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार फ़िलिस्तीन पर लगातार जारी इस्राईली अत्याचार और बैतुल मुक़द्दस को इस्राईल की राजधानी बनाने के अमेरिकी घोषणा के विरुद्ध मजलिसे उल्माए हिंद की अपील पर 22 दिसंबर जुमे को पूरे देश में “यौमे तहफ़्फ़ुज़े क़ुद्स” (क़ुद्स रक्षा दिवस) मनाया जाएगा।
मजलिसे उल्माए हिंद ने सभी इमामे जुमा और जमाअत से अपील करते हुए कहा कि विश्व स्तर पर जिस तरह सभी वैश्विक संस्थाऐं एकजुट होकर अमेरिकी घोषणा के विरुद्ध प्रदर्शन कर रही हैं इन सभी संस्थाओं के साथ मिलकर मजलिसे उल्माए हिंद भी पूरे देश में प्रदर्शन करेगी यह काम इमामे जुमा व जमाअत की मदद के बिना मुमकिन नहीं है इसीलिए सभी इमामे जुमा अपने ख़ुतबों में अमरीकी फैसले की निंदा करें और नमाज़े जुमा के बाद मस्जिदों में विरोध प्रदर्शन किया जाए।
मजलिसे उल्माए हिंद के जनरल सेक्रेटरी मौलाना सैयद कल्बे जवाद नक़वी ने सभी इमामे जुमा और जमाअत से अपील करते हुए कहा कि अमेरिका और इस्राईल के विरुद्ध अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुसलमानों को एकजुट होना होगा। उन्होंने कहा हमने हमेशा फ़िलिस्तीन पर इस्राईली अत्याचार का विरोध और बैतुलमुक़द्दस के समर्थन के लिए प्रदर्शन किए हैं।
मौलाना ने कहा कि 15 साल पहले सबसे पहले आसफ़ी मस्जिद से अमेरिकी और इस्राईली प्रोडक्ट्स के बाईकाट का ऐलान किया गया था जिसका असर भी हुआ था लेकिन धीरे-धीरे फिर इस्राईली प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया जाने लगा है।
मौलाना ने कहा कि अगर सभी मुसलमान और इस्लामी देश अमेरिका और इस्राईल प्रोडक्ट्स का बाईकॉट करें तो अमेरिका और इस्राईल स्वयं उनके सामने झुक जाएंगे।
मौलाना ने कहा कि हमने सदैव मुसलमानों के बीच एकता के लिए आवाज उठाई है क्योंकि मुसलमानों का एकजुट होना ही साम्राज्यवादी शक्तियों की मौत है।
मजलिसे उलमा ए हिंद सभी इमामे जुमा और जमाअत से अपील करती है कि नमाज जुमा के ख़ुतबों में अमेरिकी राष्ट्रपति के षड़यंत्र और ट्रम्प की घोषणा को मोमिनीन के सामने प्रस्तुत करें जहां तक मुमकिन हो बैतुल मुक़द्दस को इस्राईली राजधानी बनाने की घोषणा के विरुद्ध मस्जिदों में प्रदर्शन किया जाए और संयुक्त राष्ट्र सहित सभी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों को मेमोरेंडम भेजे जाऐं। मोमेनीन से गुजारिश करें के प्रदर्शन के साथ साथ इस्राईली प्रोडक्ट्स का बाईकॉट करें ताकि हमारा दुश्मन हमारे पैसे को हमारे ही विरुद्ध इस्तेमाल ना करे।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
پیام امام خامنه ای به مسلمانان جهان به مناسبت حج 2016
We are All Zakzaky