मुसलमानों की सियासी समझ ने नीतीश- बीजेपी गठबंधन को धूल चटाई

मुसलमानों की सियासी समझ ने नीतीश- बीजेपी गठबंधन को धूल चटाई

बिहार में एक लोकसभा और दो विधानसभा में परिणाम सामने आ गए है। अररिया लोकसभा सीट पर आरजेडी के उम्मीदवार ने 43,345 वोटों से बड़ी जीत दर्ज की है

अबनाः बिहार में एक लोकसभा और दो विधानसभा में परिणाम सामने आ गए है। अररिया लोकसभा सीट पर आरजेडी के उम्मीदवार ने 43,345 वोटों से बड़ी जीत दर्ज की है। वहीं जहानाबाद में भी आरजेडी ने 35,036 वोटों से जीत दर्ज की है। वहीं एक मात्र सीट भभुआ में भाजपा की पिंकी रानी ने आरजेडी उम्मीदवार को 15,490 वोटों से हराया है।
इससे पहले बिहार उपचुनाव में एकमात्र लोकसभा सीट अररिया में गिनती लगभग अंतिम दौर तक RJD उम्मीदवार सरफराज आलम बड़े अंतर से बीजेपी उम्मीदवार पर बढ़त बनाई थी। सरफराज आलम का जितना लगभग तय माना जा रहा था।
लेकिन कई सवाल खड़े हो गये हैं बीजेपी के लिए। चुनाव प्रचार के दौरान अररिया के मुसलमानों को लेकर बीजेपी नेता ने जिस प्रकार बयानबाजी की थी उसी का जवाब माना जा रहा है। मालूम हो कि अररिया मुस्लिम बहुल क्षेत्र माना जाता है।
इससे पहले सरफराज आलम के पिता और कद्दावर नेता मोहम्मद तस्लीमुद्दीन सासंद थे। इससे पहले एक रिपोर्ट आई थी कि यहां के मुसलमानों ने बढ़ चढ़कर वोट केवल नीतीश कुमार को हराने के लिए किया था। सूत्रों की मानें तो मुसलमानों ने नीतीश कुमार के खिलाफ़ अपनी गुस्से का इजहार किया और घरों से निकल कर वोट किया।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky