बहरैन में निर्दोष शियों पर एक और अत्याचार

आले ख़लीफा की सैन्य अदालत ने 6 बहरैनी जवानों को सुनाई मौत की सज़ा।

आले ख़लीफा की सैन्य अदालत ने 6 बहरैनी जवानों को सुनाई मौत की सज़ा।

मानवाधिकार संगठनों की आश्चर्यजनक खामोशी के साए में बहरैन में आले ख़लीफ़ा सरकार की फ़ौजी अदालत ने बेबुनियाद और झूठे आरोप लगाकर बहरैन के छह बेगुनाह जवानों को मौत की सजा सुना दी।

अहलेबैत (अ )न्यूज़ एजेंसी अबनाः  प्राप्त सूत्रों के अनुसार विश्व  मानवाधिकार संगठनों की आश्चर्यजनक खामोशी के साए में बहरैन में आले ख़लीफ़ा सरकार की फ़ौजी अदालत ने बेबुनियाद और झूठे आरोप लगाकर बहरैन के छह बेगुनाह जवानों को मौत की सजा सुना दी।
मानवाधिकार संगठनों की खामोशी के कारण बहरैन की आले ख़लीफ़ा सरकार की सैन्य अदालत ने निराधार और झूठे आरोप लगाकर बहरैन के 6 बेगुनाह जवानों को मौत की सजा सुना दी है।
बहरैनी जवानों को बहरैन की सेना के कमांडर को मारने का प्लान बनाने के आरोप में सज़ा ए मौत सुनाई गई है। बहरैन की सैन्य अदालत ने इन लोगों की नागरिकता भी खत्म कर दी है।
सैन्य अदालत ने इस केस में 7 अन्य व्यक्तियों को 7 साल की कै़द और नागरिकता समाप्त करने की सज़ा सुनाई है।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky