प्रतिबंध और जेल की धमकी से इस्राईल मुझे ईरान की यात्रा से नहीं रोक सकता, तमीमी

प्रतिबंध और जेल की धमकी से इस्राईल मुझे ईरान की यात्रा से नहीं रोक सकता, तमीमी

इस्राईली सैनिकों को थप्पड़ रसीद करने वाली फ़िलिस्तीनी कार्यकर्ता अहद तमीमी ने कहा है कि इस्राईल द्वारा प्रतिबंध के बावजूद वह ईरान की यात्रा करेंगी।

तमीमी के पिता का कहना है कि उनकी बेटी ज़ायोनी शासन के प्रतिबंध को नज़र अंदाज़ करके अपने परिवार के साथ जॉर्डन होकर ईरान पहुंचने का प्रयास करेंगी।

ग़ौरतलब है कि इस्राईल ने इस फ़िलिस्तीनी कार्यकर्ता और उनके परिवार की विदेश यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है।

अहद तमीमी यूरोप में फ़िलिस्तीनी क़ैदियों के अधिकारों से संबंधित एक सम्मेलन में भाग लेने के लिए विदेश यात्रा करने वाली थीं, इसके अलावा उन्हें तेहरान की यात्रा भी करनी थी।

तमीमी को ईरान की यात्रा के लिए आमंत्रित किया गया था, लेकिन इससे पहले कि वे तेहरान की यात्रा करतीं, ज़ायोनी शासन ने उनके और उनके परिवार की विदेश यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया।

तमीमी को फ़िलिस्तीनियों के अधिकारों के लिए लड़ने और विश्व स्तर पर इस्राईली सैनिकों के अत्याचारों से पर्दा उठाने के लिए ईरान में पुरस्कृत किया जाना था।

उनके पिता बासिम तमीमी का कहना है कि इस्राईल ने इस प्रतिबंध के लिए उन्हें कोई कारण नहीं बताया है।

अहद तमीमी और उनकी मां नरिमान को 29 जुलाई को ही 8 महीने जेल में बंद रखने के बाद रिहा किया गया था।

17 वर्षीय तमीमी को दिसम्बर में एक वीडियो वायरल होने के बाद गिरफ़्तार किया गया था, जिसमें उन्हें एक इस्राईली सैनिक को झापड़ मारते हुए देखा जा सकता है, जो ज़बरदस्ती उनके घर में घुसने की कोशिश कर रहा था। उस समय अहद की आयु केवल 16 वर्ष थी।

अपनी और अपने परिवार की रक्षा करते हुए एक इस्राईली सैनिक को झापड़ मारने के आरोप में उन्हें और उनकी मां को 8 महीने क़ैद की सज़ा सुना दी गई थी।

तमीमी फ़िलिस्तीनियों के समर्थन के लिए हिज़्बुल्लाह प्रमुख सैय्यद हसन नसरुल्लाह का आभार व्यक्त कर चुकी हैं और उनका कहना है कि ईरान यात्रा के परिणामों से वह अच्छी तरह अवगत हैं, क्योंकि हो सकता है मुझे इस्राईली अधिकारी फिर से जेल में बंद कर दें, लेकिन जेल से मुझे डराया नहीं जा सकता। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky