इस्लामाबाद, भारत से संबंधों को बेहतर बनाये जाने का इच्छुक हैः क़ुरैशी

इस्लामाबाद, भारत से संबंधों को बेहतर बनाये जाने का इच्छुक हैः क़ुरैशी

भारत में सैन्य मामलों के एक विशेषज्ञ प्रकाश मलिक ने बल देकर कहा है कि कश्मीर समस्या का कोई सैन्य समाधान नहीं है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान ख़ान के नाम जो पत्र लिखा है उसमें इस्लामाबाद और नई दिल्ली के मध्य रचनात्मक संबंधों पर बल दिया गया है।

इस पत्र में भारत के प्रधानमंत्री ने भारतीय उपमहाद्वीप में शांति स्थापित करने और आतंकवाद से मुकाबले पर बल दिया है परंतु इस पत्र में दोनों देशों के मध्य वार्ता प्रक्रिया आरंभ होने की ओर कोई संकेत नहीं किया गया है।

भारत के प्रधानंमत्री के इस पत्र को पाकिस्तान के नये विदेशमंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान के बाद प्रकाशित किया गया है। पाकिस्तान के विदेशमंत्री ने इससे पहले कहा था कि इस्लामाबाद भारत और अफ़ग़ानिस्तान से संबंधों को बेहतर बनाये जाने का इच्छुक है।

साथ ही उन्होंने कहा था कि भारत और पाकिस्तान दोनों परमाणु हथियारों से सम्पन्न हैं और कश्मीर समस्या का समाधान होना चाहिये।

भारत के प्रधानमंत्री ने उनके पत्र के प्रकाशित होने से पहले और इमरान ख़ान की पार्टी की सफलता के बाद एक टेलीफोनी वार्ता में उन्हें बधाई दी थी और दोनों देशों के संबंधों में विस्तार की मांग की थी।

इमरान ख़ान ने चुनावी प्रचार के दौरान बल देकर कहा था कि वह भारत के साथ संबंधों को बेहतर बनाये जाने के इच्छुक हैं और तेहरीके इंसाफ पार्टी की सफलता भारत के लिए कोई चुनौती नहीं होगी।

यद्यपि इमरान ख़ान ने तहरीके इंसाफ पार्टी की सफलता के बाद जो पहली प्रेस कांफ्रेस की थी उसमें उन्होंने अपने पड़ोसी देशों के साथ अच्छे संबंध स्थापित किये जाने के अलावा पाकिस्तान की डिप्लौमेसी में गम्भीर परिवर्तन उत्पन्न किये जाने की बात कही थी जिसे क्षेत्रीय संचार माध्यमों ने विस्तृत पैमाने पर काफी कवरेज दिया था।

बहरहाल भारत में सैन्य मामलों के एक विशेषज्ञ प्रकाश मलिक ने बल देकर कहा है कि कश्मीर समस्या का कोई सैन्य समाधान नहीं है। साथ ही उन्होंने कश्मीर समस्या के समाधान के लिए दोनों देशों के मध्य राजनीतिक वार्ता आरंभ किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky