इमाम रज़ा (अ) का परचम 6250 मीटर ऊंची पहाड़ की चोटी पर लहराया

इमाम रज़ा (अ) का परचम 6250 मीटर ऊंची पहाड़ की चोटी पर लहराया

क़राक़ुम बरगी छू पैक की 6250 मीटर ऊंची चोटी पर इतिहास में पहली बार हज़रत इमाम रज़ा (अ) का परचम एक पाकिस्तानी युवक ने लहरा दिया।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार, उत्तरी पाकिस्तान के इस्करदू इलाक़े से संबंध रखने वाले प्रसिद्ध पर्वतारोही नज़ीर सदपारे ने 6250 मीटर ऊंचे क़राक़ुम पहाड़ की सबसे ऊंची चोटी बरगी छू पैक पर पैग़म्बरे इस्लाम के पौत्र और शिया मुसलमानों के आठवें इमाम हज़रत इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के परचम को लहराकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। याद रहे कि इससे पहले मोहम्मद नज़ीर सदपारे ने दुनिया की ऊंची चोटियों में से एक, “सब्ज़ हेलाली” पर जो पाकिस्तान में है हज़रत इमाम अली (अ) के बेटे हज़रत अब्बास कर परचम लहराया था।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के सदपारे के ही रहने वाले युवक और प्रसिद्ध पर्वतारोही हसन सदपारे, पहली बार विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर हज़रत अब्बास (अ) के परचम को लहरा चुके हैं।

याद रहे कि बरगी छू पैक की चोटी पर हज़रत इमाम रज़ा और हज़रत अब्बास (अ) के नाम का परचम लहराने वाले पर्वतारोही नज़ीर सदपारे, 1982 में इस्करदू सदपारे में पैदा हुए और उन्होंने औपचारिक रूप से पहाड़ों पर चढ़ना वर्ष 2009 में आरंभ किया। नज़ीर सदपारे के 7 भाई हैं जिनमें से दो भाइयों की जान भी पहाड़ों पर चढ़ने के दौरान जा चुकी है। मोहम्मद नज़ीर सदपारे के मुताबिक़, वह अबतक 8000 मीटर से ऊंची 5 चोटियों, 7000 मीटर से ऊंची 3 पहाड़ी चोटियों और 5000 मीटर से ऊंची 8 चोटियों पर पहुंचने में कामयाब रहे हैं। नज़ीर सदपारे की यह इच्छा है कि वह माउंट एवरेस्ट सहित विश्व में मौजूद 8000 मीटर से ऊंची सभी चोटियों पर पहुंचकर हज़रत अब्बास (अ) के परचम को लहरा सकें।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky