मुसलमानों के प्रति क्रूरता एवं बर्बरता तुरंत बंद कर देनी चीहिये:ईरान

मुसलमानों के प्रति क्रूरता एवं बर्बरता तुरंत बंद कर देनी चीहिये:ईरान

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम क़ासमी नें कहा कि ईरान ने म्यांमार के मुसलमानों को 100 टन से अधिक की सहायता भेजी है, जिनमें खाद्य और चिकित्सा आपूर्ति शामिल है, जबकि ईरान म्यांमार के मुसलामानों के लिए एक शरणार्थी शिविर और एक अस्पताल भी बनाएगा

अहलेबैत (अ) न्यूज़ एजेंसी अबना: प्राप्त सूत्रों के अनुसार ईरान ने रोहिंग्या मुसलमानों के लिए अस्पताल एवं शरणार्थी शिविरों के आयोजन की घोषणा की है।
इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम क़ासमी नें कहा कि ईरान ने म्यांमार के मुसलमानों को 100 टन से अधिक की सहायता भेजी है, जिनमें खाद्य और चिकित्सा आपूर्ति शामिल है, जबकि ईरान म्यांमार के मुसलामानों के लिए एक शरणार्थी शिविर और एक अस्पताल भी बनाएगा। ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि ईरान ने अपने सभी संसाधनों के द्वारा  रोहिंग्या मुसलमानों की कठिनाइयों का निदान करना चाहता है।
 बहराम क़ासमी ने कहा कि ईरान अपनी पूरी शक्ति के साथ म्यांमार के मुसलमानों के साथ है, और इस सिलसिले में अपनी इस्लामी, मानवी और नैतिक ज़िम्मेदारियों को पूरी कर रहा है, और ईरान इस सिलसिले में बांग्लादेशी अधिकारियों के साथ संपर्क में है । उन्होंने कहा कि ईरान के म्यांमार के साथ कोई राजनीतिक संबंध नहीं हैं, इसलिए म्यांमार के मामलों के ईरानी राजदूत थाईलैंड में हैं, उन्होंने कहा कि  "म्यांमार को मुसलमानों की कठिनाइयों के मुआवज़े का भुगतान करना होगा, अतः उन्हें मुसलमानों के प्रति क्रूरता एवं बर्बरता तुरंत बंद कर देनी चीहिये।
 


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky