बैतुलमुक़द्दस के समर्थन में मुसलमान एकजुट

बैतुलमुक़द्दस के समर्थन में मुसलमान एकजुट

पूरी दुनिया के मुसलमान ट्रम्प के इस निर्णय के बाद बेगुनाह और बच्चों के हत्यारे ज़ायोनी शासन के विरुद्ध फ़िलिस्तीनी जनता के अधिकारों की रक्षा के लिए संगठित हो गए हैं

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना: ईरान के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सेक्रेटरी अली शमख़ानी ने ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोर्स जॉन्सन से बातचीत करते हुए कहा कि अगर ईरान आगे न बढ़ता और क़ुर्बानियाँ न देता तो इराक़ और सीरिया में आईएस का शासन होता और वह यूरोपीय सीमा तक पहुँच चुके होते।
उन्होंने ईरान की पॉलेसियों के बारे में कुछ देशों के स्टैंड पर कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि ईरान ही है जो आतंकवाद के विरुद्ध जंग कर रहा है।
ईरान के उच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सेक्रेटरी ने अमरीकी राष्ट्रपति की ओर से बैतुलमुक़्दस को इस्राईल की जाली शासन की राजधानी बताए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि फ़िलिस्तीन स्वंय एक देश है और इसकी राजधानी भी मालूम है।
उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया के मुसलमान ट्रम्प के इस निर्णय के बाद बेगुनाह और बच्चों के हत्यारे ज़ायोनी शासन के विरुद्ध फ़िलिस्तीनी जनता के अधिकारों की रक्षा के लिए संगठित हो गए हैं उन्होंने सऊदी अरब और बहरैन से लेकर मानवाधिकारों का हनन करने वाले देशों को ब्रिटेन की ओर से हथियार बेचने की भी आलोचना की।  


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky