जनरल क़ासिम सुलेमानी ने दी ट्रम्प को खुली चेतावनी।

जनरल क़ासिम सुलेमानी ने दी ट्रम्प को खुली चेतावनी।

आईआरजीसी की क़ुद्स ब्रिगेड के कमांडर ने ईरान के ख़िलाफ़ अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की हालिया धमकियों की ओर इशारा करते हुए कहा है कि ईरान के साथ युद्ध शुरू करने का अर्थ अमरीका की सभी संभावनाओं की समाप्ति है और अमरीका द्वारा शुरू की गई लड़ाई का अंत ईरान करेगा।

आईआरजीसी की क़ुद्स ब्रिगेड के कमांडर ने ईरान के ख़िलाफ़ अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की हालिया धमकियों की ओर इशारा करते हुए कहा है कि ईरान के साथ युद्ध शुरू करने का अर्थ अमरीका की सभी संभावनाओं की समाप्ति है और अमरीका द्वारा शुरू की गई लड़ाई का अंत ईरान करेगा।
जनरल क़ासिम सुलैमानी ने पश्चिमी ईरान के हमदान नगर में एक समारोह में कहा कि यह बात ईरान के राष्ट्रपति की शान के ख़िलाफ़ है कि वे जुआघर और कैबरे की भाषा बोलने वाले ट्रम्प की बात का जवाब दें। उन्होंने ट्रम्प को संबोधित करते हुए कहा कि क्या तुम ईरान को संसार में अभूतपूर्व कार्यवाही की धमकी देते हो जबकि तुम्हें अपने सैन्य कमांडरों, रजानेताओं और ख़ुफ़िया विभागों के प्रमुखों से पूछना चाहिए कि पिछले दशकों में वे ईरान के ख़िलाफ़ क्या कर पाए हैं?
जनरल सुलैमानी ने अफ़ग़ानिस्तान में अमरीका के अपराधों की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि जब अमरीका ने एक लाख दस हज़ार सैनिकों, हज़ारों टैंकों व बक्तरबंद गाड़ियों, सैन्य संभावनाओं, सैकड़ों युद्धक विमानों और विकसित हेलीकाॅप्टरों के साथ एक सीमित संभावनाओं वाले गुट तालेबान पर हमला किया तो वह कुछ नहीं कर सका। उन्होंने वर्ष 2011 में इराक़ से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने के लिए ईरान से अपना प्रभाव इस्तेमाल करने के एक अमरीकी कमांडर के अनुरोध की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि अमरीकियों ने इराक़ में एेसे जघन्य अपराध किए जो मध्ययुगीन शताब्दियों में भी नहीं किए गए थे और वे टैंकों के साथ लोगों के घर में घुस गए और लोगों को कुचल दिया। उन्होंने अबू ग़रेब जेल जैसे अपराध किए जो हमेशा उनके लिए कलंक रहेंगे।
आईआरजीसी की क़ुद्स ब्रिगेड के कमांडर ने लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के साथ इस्राईल के 33 दिवसीय युद्ध में ज़ायोनी शासन के समर्थन में अमरीका को होने वाली पराजय और सऊदी अरब व इमारात को साथ लेकर यमन पर हमला शुरू करने की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि अमरीका एेसी स्थिति में ईरान को धमका रहा है कि जब उसने अपनी कार्यवाहियों से लाल सागर को अशांत बना दिया है और सऊदी अरब जो बरसों से एक शांत देश था, आज मीज़ाइलों का निशाना बना रहा है। जनरल क़ासिम सुलैमानी ने अमरीकी राष्ट्रपति को संबोधित करते हुए कहा कि आईआरजीसी की क़ुद्स ब्रिगेड अकेले ही तुम्हारे लिए काफ़ी है और ईरान की सेना को मैदान में आने की ज़रूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि हम वहां भी हैं जहां तुम सोच भी नहीं सकते क्योंकि ईरानी राष्ट्र, शहादत प्रेमी राष्ट्र है और वह बहुत कठिन समय बिता चुका है।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Quds cartoon 2018
We are All Zakzaky