ईरान के विरुद्ध अमरीका के प्रतिबंधों से मुक़ाबले के लिए यूरोपीय संघ की नई युक्ति

ईरान के विरुद्ध अमरीका के प्रतिबंधों से मुक़ाबले के लिए यूरोपीय संघ की नई युक्ति

यूरोपीय संघ के तीन महत्वपूर्ण देशों ने जिनमें जर्मनी, ब्रिटेन और फ़्रांस शामिल हैं, परमाणु समझौते का समर्थन करते हुए परमाणु समझौते जेसीपीओए को निरस्त करने के लिए अमरीकी कार्यवाहियों से मुक़ाबला करने पर बल दिया है और इस संबंध में कार्यवाही की है।

यूरोपीय संघ की विदेश नीति प्रभारी फ़ेडरिका मोग्रेनी ने कहा कि हमारा काम सदस्य देशों और दुनिया में दूसरे भागीदारों से जारी है ताकि यह विश्वास प्राप्त करें कि ईरान और ईरानी नागरिक, यूरोपीय संघ और दुनिया के अन्य देशों के साथ आर्थिक संबंधों से लाभ उठाएं।

इस संबंध में जर्मनी, फ़्रांस और ब्रिटेन जैसे यूरोप के तीन देश, अमरीका से हटकर एक स्वतंत्र वित्तीय संस्था का गठन करना चाहते हैं ताकि नवम्बर 2018 से पहले ईरान के साथ अपने व्यापारिक संबंधों को सुरक्षित रख सकें। 

जर्मनी के वित्तमंत्री ओलाफ़ शोल्ज़ अपने ब्रिटिश और फ़्रांसीसी समकक्षों के साथ इस वित्तीय संस्था के गठन का प्रयास कर रहे हैं और ब्रिटिश सरकार ने भी घोषणा की है कि वह इस संस्था के गठन में सहयोग के लिए पूरी तरह तैयार है।

यह वित्तीय संस्था, बैंक नहीं होगी बल्कि यह क़ानूनी परिधि में स्वतंत्र रूप से काम करेगी। इस प्रकार से यूरोप के साथ ईरान के व्यापारिक और औद्योगिक लेनदेन यहां तक कि तेल की बिक्री जारी रहने से बहुत से काम संभव हो सकेंगे। यह एेसी हालत में है कि ईरान के विरुद्ध अमरीका के नये प्रतिबंधों का दुनिया जमकर विरोध कर रही है और ईरान के तेल पर प्रतिबंध के बाद पैदा होने वाली समस्याओं के सामने आने के बाद अमरीका के भीतर भी विरोध की आवाज़ें उठने लगी हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky