अमेरिका को ईरान के बारे में निर्णय लेने का अधिकार नहींः बहराम क़ासिमी

अमेरिका को ईरान के बारे में निर्णय लेने का अधिकार नहींः बहराम क़ासिमी

फ़िलिस्तीनी जनता पर इस्राइल के जुर्म में अमेरिका बराबर का भागीदार रहा है और अमेरिका की इराक़, सीरिया, फ़िलिस्तीन, लेबनान, लीबिया, यमन और अफ़ग़ानिस्तान में किया जाने वाला हस्तक्षेप सब पर ज़ाहिर है

अहलेबैत (अ )न्यूज़ एजेंसी अबनाः प्राप्त सूत्रों के अनुसार इस्लामिक रिपब्लिक ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम क़ासिमी ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्प्यो के ईरान के खिलाफ बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अमेरिका पिछले 40 साल से ईरान के खिलाफ प्रोपगंडे में लगा हुआ है और उसको क्षेत्रीय और विश्व पॉलिसियों में ऐतिहासिक हार का सामना करना पड़ा है।
 बहराम क़ासमी का कहना था कि हारे हुए अमेरिका को ईरान की क़िस्मत का निर्णय लेने की अधिकार नहीं दिया जाएगा।
 उन्होंने कहा कि अमेरिकी सरकार सही सूचनाओं को नहीं सामने नहीं लाती है और वह सच्चाई को तोड़ मरोड़ कर पेश करने की कोशिश करते रहते हैं।
 उन्होंने आगे कहा कि अलक़ायदा और अन्य तक्फ़ीरी आतंकवादी संगठनों का असली बनाने वाला अमेरिका और सऊदी अरब है।
 और दोनों देशों का क्षेत्रीय और विश्व स्तर पर आतंकवाद को बढ़ावा देने में बड़ा रोल रहा है।
 उन्होंने कहा कि फ़िलिस्तीनी जनता पर इस्राइल के जुर्म में अमेरिका बराबर का भागीदार रहा है और अमेरिका की इराक़, सीरिया, फ़िलिस्तीन, लेबनान, लीबिया, यमन और अफ़ग़ानिस्तान में की जाने वाली दख़ल अंदाज़ी सब पर ज़ाहिर है।
बहराम क़ासमी ने कहा कि अमेरिका विश्व स्तर पर और क्षेत्रीय स्तर पर अकेलेपन का शिकार है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Quds cartoon 2018
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
پیام امام خامنه ای به مسلمانان جهان به مناسبت حج 2016
We are All Zakzaky