तालिबान की घिनौनी हरकत: 48 स्कूली बच्चों को दिया ज़हर।

तालिबान की घिनौनी हरकत: 48 स्कूली बच्चों को दिया ज़हर।

आतंकी संगठन तालिबान का कहर एक बार फिर अफ़ग़ानिस्तान की स्कूली छात्राओं पर बरपा, एक अफगान अधिकारी ने कहा है कि दक्षिणी हेलमंद प्रांत के एक हाई स्कूल में लगभग 48 स्कूली छात्राएं जहर दिये जाने के कारण बीमार हो गई हैं......

अबनाः आतंकी संगठन तालिबान का कहर एक बार फिर अफ़ग़ानिस्तान की स्कूली छात्राओं पर बरपा, एक अफगान अधिकारी ने कहा है कि दक्षिणी हेलमंद प्रांत के एक हाई स्कूल में लगभग 48 स्कूली छात्राएं जहर दिये जाने के कारण बीमार हो गई हैं।
अधिकारियों को संदेह है कि यह सामूहिक रूप से जहर देने का मामला हो. डॉ. निसार अहमद बराक ने कहा कि छात्राओं को लश्कर गह स्थित उनके अस्पताल में आज भर्ती कराया गया है।
जहर खाने के बाद बीमार हुई छात्राओं ने सर दर्द और उलटी की शिकायत की थी। बताया जा रहा है कि अभी छात्राओं की स्थिति में सुधार हो रहा है। बराक ने बताया कि अभी इस बात कि पुष्टि नहीं हो पाई है कि छात्राओं को किस तरह का जहर दिया गया है, फ़िलहाल जांच जारी है, जल्द ही हम उस जहर की पहचान कर लेंगे।
उन्होंने कहा कि छात्राओं की हालत को देखते हुए लग रहा है कि जहर ज्यादा असरकारक नहीं था, या यह भी हो सकता है कि काफी कम मात्रा में जहर दिया गया हो।
हेलमंद के शिक्षा विभाग के उप- निदेशक अहमद बिलाल हकबीन ने कहा कि पीड़ित छात्राएं शहर के सेंट्रल गर्ल्स स्कूल में 11 वीं कक्षा में पढ़ती हैं। आपको बता दें कि आतंकी संगठन तालिबान द्वारा इस्लामी कानून शरीयत का उलंघन करने पर बहुत ही क्रूर सजा दी जाती है, एक सर्वे के मुताबिक, 97 फीसदी अफगानी महिलाएं डिप्रेशन की शिकार हैं।
तालिबान लड़कियों की शिक्षा का विरोध करता है और तालिबानी इलाकों में घर में गर्ल्स स्कूल चलाने वाली महिलाओं को उनके पति, बच्चों और छात्रों के सामने गोली मार दी जाती है, अफ़ग़ानिस्तान का हेलमंद इलाका भी तालिबान के नियंत्रण में है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky