विदेशी सैनिकों से हमलावरों जैसा बर्ताव किया जाएगाः इराक़ी स्वयं सेवी बल

विदेशी सैनिकों से हमलावरों जैसा बर्ताव किया जाएगाः इराक़ी स्वयं सेवी बल

इराक़ के स्वयं सेवी बल हश्दुश्शाबी ने अपने देश से विदेशी सैनिकों के तुरंत निष्कासन की मांग की है।

इराक़ के स्वयं सेवी बल हशदुश्शाबी के जवानों ने एक बयान में घोषणा की है कि वह इराक़ से विदेशी सैनिकों के निष्कासन के लिए अपने क़ानूनी हक़ से लाभ उठाएंगे।

इस बयान में बल दिया गया है कि इराक़ में विदेशी सैनिकों की ग़ैर क़ानूनी तैनाती असहनीय है और इन सैनिकों के विरुद्ध अतिग्रहणकारियों की भांति कार्यवाही की जाएगी। 

इस बयान में यह भी कहा गया है कि इराक़ी जनता, 2003 से अब तक अपने धार्मिक नेतृत्व पर भरोसा करके इराक़ पर किए जाने वाले अतिग्रहण, इराक़ में सांप्रदायिक युद्ध और दाइश के गठन जैसे षड्यंत्रों को विफल बनाने में सफल रही है और अब इराक़ के विरुद्ध एक बार फिर षड्यंत्र किए जा रहे हैं। 

हशदुश्शाबी ने इराक़ के इस निर्णायक चरण में इराक़ी राष्ट्र की होशियारी पर बल देते हुए कहा कि इराक़ के कुछ राजनेता इराक़ी राष्ट्र पर अमरीकी इच्छा थोपने का प्रयास कर रहे हैं।

अमरीकी सेना जो निरंतर विफलता के परिणाम में 2011 में इराक़ से निकलने पर मजबूर हो गयी थी, 2014 में दाइश के विरुद्ध अभियान के बहाने एक गठबंधन का गठन करते हुए एक बार फिर इराक़ में प्रविष्ट हुई है। 

ज्ञात रहे कि इराक़ में दाइश का काम तमाम होने के साथ ही इराक़ी जनता, विभिन्न पार्टियों, हस्तियों और इसी प्रकार इराक़ी मीडिया ने इराक़ में अमरीकी सेना की उपस्थिति का बहाना समाप्त हो जाने की ओर संकेत करते हुए इराक़ से समस्त अमरीकी सैनिकों के निष्कासन की आवश्यकता पर बल दिया है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky