इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के सोग में डूबा पूरा ईरान

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के सोग में डूबा पूरा ईरान

आज गुरूवार 29 सफ़र को ईरान में पैग़म्बरे इस्लाम (स) के पौत्र इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की शहादत की बरसी मनाई जा रही है।

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की शहादत की बरसी पर पूरे देश में इमाम का सोग मनाया जा रहा है।  आज ईरान में सरकारी अवकाश है।

दक्षिण पूर्वी ईरान में स्थित पवित्र नगर मशहद में लाखों की संख्या में श्रद्धाुल इमाम रज़ा के रौज़े के दर्शन करने वहां मौजूद हैं।  ईरान के सभी शहरों और बस्तियों में कल रात से शोक सभाओं का आयोजित की जा रही हैं।  मशहद में भारत, पाकिस्तान, इराक़, सीरिया, लेबनान, बहरैन, यमन और कई अन्य देशों से श्रद्धाुल इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की शहादत की बरसी मनाने पहुंचे हैं।  इसके अतिरिक्त ईरान के अलग-अलग क्षेत्रों से लाखों की संख्या में लोग मशहद पहुंचकर उनका सोग मना रहे हैं।  मशहद नगर में हर ओर से नौहों और मातम की आवाज़ें सुनाई दे रही हैं।  अंजुमनों के दस्ते मामत करते हुए इमाम रज़ा के रौज़े में पहुंच रहे हैं।

पार्सटुडे के संवाददाता के अनुसार पवित्र नगर मशहद के अतिरिक्त क़ुम नगर में इमाम रज़ा कल बहन मासूमा क़ुम के रौज़े पर भी लाखों लोग इमाम की शहादत की बरसी मनाने पहुंचे हैं।  राजधानी तेहरान और अन्य नगरों में शोक सभाएं की जा रही हैं और जुलूस निकाले जा रहे हैं।

ज्ञात रहे कि कल बुधवार को 28 सफ़र के दिन पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा के स्वर्गवास और उनके नवासे इमाम हसन अलैहिस्सलाम की शहादत की बरसी पर भी पूरे ईरान में शोकसभाएं आयोजित की गई थीं।

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की शहादत के दुखद अवसर पर पार्सटूडे हिंदी की ओर से हार्दिक संवेदना प्रकट करते हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky