400 प्रीसिजन बम के बाद अब सऊदी अरब को युद्धपोत बेचने का सौदा भी खटाई में पड़ सकता है

400 प्रीसिजन बम के बाद अब सऊदी अरब को युद्धपोत बेचने का सौदा भी खटाई में पड़ सकता है

स्पेन सरकार ने सऊदी अरब को 5 युद्धपोत बेचने के सौदे के मार्ग में रुकावट पैदा होने की ओर संकेत किया है। यह ऐसी हालत में है कि स्पेन सरकार ने रियाज़ को 400 प्रीसिजन बम बेचने के सौदे को स्थगित कर दिया है।

फ़्रांस प्रेस के अनुसार, मैड्रिड सरकार की प्रवक्ता इज़ाबेला मेन्डिज़ ने सऊदी अरब को हथियार बेचने के सौदे के संभवतः रद्द होने के बारे में कहाः " मुझे नहीं लगता कि हमारा सऊदी अरब के साथ राजनैतिक मतभेद है बल्कि दोनों देशों के बीच वैचारिक मतभेद हैं।"

स्पेन की उपवाणिज्य मंत्री जियाना मेन्डेज़ ने देश की संसद की रक्षा समिति की बैठक में कहाः "मैड्रिड सरकार इन युद्धपोतों को सऊदी अरब को बेचने की अहमियत को समझती है और इस संबंध में एक वर्कग्रुप व तंत्र का जल्द ही गठन होगा ताकि यह स्पष्ट हो सके कि इन हथियारों को कहा और कैसे इस्तेमाल किया जाएगा।"

स्पेन के अधिकारियों के इस तरह के बयान, इस देश के जनमत और एम्नेस्टी इंटरनैश्नल सहित कुछ मानवाधिकार संगठनों की ओर से पड़ने वाले दबाव के बाद सामने आए हैं। स्पेन की जनता और मानवाधिकार संगठन सऊदी अरब को किसी भी तरह के हथियार बेचने के सौदे को तुरंत रोकने की मांग कर रहे हैं क्योंकि इन संगठनों को इन हथियारों के सऊदी अरब द्वारा यमन की बेगुनाह जनता के ख़िलाफ़ इस्तेमाल होने की ओर से चिंता है।

स्पेन के रक्षा मंत्रालय ने सऊदी अरब के साथ हुए 400 प्रीसिजन बम के सौदे के रद्द होने की पिछले हफ़्ते सूचना दी थी और इस सौदे के रद्द होने कारण इन बमों के यमन पर बम्बारी में इस्तेमाल होने की संभावना को बताया था।

यमन पर सऊदी अरब और उसके घटकों की ओर से मार्च 2015 में शुरु हुए हमले के समय से कुछ पश्चिमी देश ख़ास तौर पर अमरीका इस अतिक्रमणकारी गठबंधन को हर तरह की मदद पहुंचा रहा है।

यमन जंग का पश्चिमी देशों की ओर से समर्थन किए जाने पर पश्चिम में ह्यूमन राइट्स वॉच सहित कुछ मानवाधिकार संगठनों ने कड़ी आपत्ति जतायी है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky