ख़ाशुक़जी मामले में तुर्की ने सीआईए प्रमुख को दिखाया सुबूत, सऊदी अरब के ख़िलाफ़ घेरा और हुआ तंग

ख़ाशुक़जी मामले में तुर्की ने सीआईए प्रमुख को दिखाया सुबूत, सऊदी अरब के ख़िलाफ़ घेरा और हुआ तंग

तुर्की के गुप्तचर विभाग ने सऊदी अरब की आलोचना करने वाले पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या से संबंधित सारी जानकारी अमरीकी गुप्तचर संस्था सीआईए की प्रमुख से साझा की है।

बुधवार को तुर्की से प्रकाशित अख़बार सबाह के अनुसार, देश के गुप्तचार विभाग के अधिकारियों ने सीआईए प्रमुख जीना हास्पेल से मुलाक़ात में इस्तांबोल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास और वाणिज्य दूतावास के प्रमुख के आवास में जांच के दौरान ख़ाशुक़जी की हत्या से संबंधित मिले सुबूत साझा किए।

जीना हास्पेल ने कहाः इस्तांबोल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास और उसके आस-पास सड़कों पर लगे कैमरे की तस्वीरों के अलावा कुछ ऑडियो फ़ाइल तथा ख़ाशुक़जी की हत्या के स्थान से संबंधित सुबूत भी उन्हें दिखाए गए।

हास्पेल मंगलवार को तुर्की गयी थीं ताकि वॉशिंग्टन पोस्ट के पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या से संबंधित तुर्की के सुबूत को देखें और इस घटना में सऊदी अरब की संलिप्तता की समीक्षा करें।

ग़ौरतलब है कि आले सऊद शासन की आलोचना करने वाले जमाल ख़ाशुक़जी 2 अक्तूबर को इस्तांबोल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में दाख़िल होने के बाद से लापता हो गए थे। सऊदी अरब ने लगभग 3 हफ़्ते के बाद कहा कि जमाल ख़ाशुक़जी की दूतावास के भीतर हत्या हुयी जबकि इससे पहले तक सऊदी अधिकारी न सिर्फ़ यह कि ख़ाशुक़जी की हत्या का इंकार करते रहे बल्कि इस बात पर बल देते रहे कि ख़ाशुक़जी वाणिज्य दूतावास से बाहर चले गए थे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky