अरब देश अमेरिका के हाथों कठपुतली बने हुए हैंः ट्रेंड न्यूज़

अरब देश अमेरिका के हाथों कठपुतली बने हुए हैंः ट्रेंड न्यूज़

दुख की बात यह है कि पश्चिमी एशिया के देश इस पॉइंट को समझ नहीं रहे हैं और ईरान और अरब जैसे फ़ुज़ूल विषय पर उलझे हुए हैं जिस कारण आज अमेरिका की हाथों कठपुतली बनकर रह गए हैं

अहलेबैत (अ) न्यूज़ एजेंसी अबना : प्राप्त सूत्रों के अनुसार आज़रबाइजान की ट्रेंड न्यूज़ एजेंसी ने अपने एक बयान में कहा है कि पश्चिमी एशिया में इतनी अधिक अमेरिकी सेना मौजूद है कि क्षेत्र अमेरिका का सैनिक ट्रेनिंग सेंटर लगता है।
कहा गया कि एक मुहावरा है कि जो पश्चिमी एशिया पर क़ाबिज़ हुआ समझो पूरी दुनिया पर उसका क़ब्ज़ा हो गया लेकिन दुख की बात यह है कि पश्चिमी एशिया के देश इस पॉइंट को समझ नहीं रहे हैं और ईरान और अरब जैसे फ़ुज़ूल विषय पर उलझे हुए हैं जिस कारण आज अमेरिका की हाथों कठपुतली बनकर रह गए हैं।
ज्ञात रहे कि सिर्फ़ कुवैत में अमेरिकी एयर बेस दोहा कैंप में 10 हज़ार अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं, इसी देश से इराक़ पर हमला किया गया था। इसके अलावा संयुक्त अरब अमीरात में 5 हज़ार सीरिया में 2 हज़ार और बहरैन में तो पूरा अमेरिकी नौसैनिक बेड़ा मौजूद है।
हैरत तो इस बात पर है कि यही अरब देश जिस अमेरिका को अपना सहयोगी और मित्र समझते हैं उन्हें नहीं पता कि उनके देशों में इतने अधिक पैमाने पर उसकी मौजूदगी सबसे पहले खुद उनके लिए ही बड़ा ख़तरा है। क्योंकि यह आवश्यकता पड़ने पर अपने सैनिक अड्डों को खुद उन्हीं देशों के ख़िलाफ़ इस्तेमाल कर सकता है जैसा कि उसने इराक़ के संबंध में ऐसा करके भी दिखाया है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky