अमेरिका के वरिष्ठ मुस्लिम नेता ने की ईरान विरोधी प्रतिबंधों की कड़े शब्दों में आलोचना

अमेरिका के वरिष्ठ मुस्लिम नेता ने की ईरान विरोधी प्रतिबंधों की कड़े शब्दों में आलोचना

अमरीका के वरिष्ठ मुस्लिम नेता और उम्मते इस्लामी आंदोलन के प्रमुख लुईस फ़रा ख़ान ने ईरान के ख़िलाफ़ ट्रम्प प्रशासन द्वारा लगाए गए सख़्त प्रतिबंधों की कड़े शब्दों में आलोचना की है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार उम्मते इस्लामी आंदोलन के प्रमुख लुईस फ़रा ख़ान ने ईरानी जनता के ख़िलाफ़ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प द्वारा शतुत्रापूर्ण नीतियों और क्रूरतापूर्ण प्रतिबंधों की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि ईरान ने आरंभ से ही व्यापक शांतिपूर्ण परमाणु समझौते के तहत अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन किया है। उन्होंने कहा कि ईरान द्वारा परमाणु समझौते के प्रति पूर्ण अनुपालन किए जाने के बावजूद अमेरिका द्वारा इस समझौते से एकपक्षीय रूप से निकलना, अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों का खुला उल्लंघन है। लुईस फ़रा ख़ान ने कहा कि ट्रम्प प्रशासन का आरंभ से यह रवैया रहा है कि ग़लती ख़ुद करता है और कार्यवाही उनके विरुद्ध करता है जिनकी कोई ग़लती नहीं होती।

अमेरिकी मुसलमानों के वरिष्ठ नेता ने कहा कि ट्रम्प प्रशासन, तेहरान पर लगाए गए प्रतिबंधों के माध्यम से ईरान की जनता को सीधे तौर पर निशाना बनाना चाहता है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी सरकार चाहती है कि किसी भी तरह ईरान की लोकतांत्रिक इस्लामी व्यवस्था को नुक़सान पहुंचाया जा सके। लुईस फ़रा ख़ान ने कहा कि एक ओर परमाणु कार्यक्रम से संबंधित वैश्विक संस्थाओं ने कई बार इस बात की पुष्टि की है कि ईरान का परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण है और उसने कभी भी व्यापक परमाणु समझौता उल्लंघन नहीं किया है और दूसरी ओर अमेरिका मनगढ़त और झूठे आरोप लगाकर ईरान पर ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से कड़े प्रतिबंध लगा रहा है।

लुईस फ़रा ख़ान ने मध्य पूर्व के बारे में अमेरिकी नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि अमेरिका की ही ग़लत और युद्धोन्मादी नीतियों का परिणाम है कि आज पूरा मध्य पूर्व युद्ध की आग में जल रहा है और साथ ही एक बड़े युद्ध का ख़तरा पैदा हो गया है। उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिका की बर्बादी की ज़िम्मेदारी तुम्हारे ऊपर ही होगी।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky