अमरीका, सुप्रिम कोर्ट के नये जज की नियुक्ति के विरुद्ध प्रदर्शन, कई महिलाएं गिरफ़्तार

अमरीका, सुप्रिम कोर्ट के नये जज की नियुक्ति के विरुद्ध प्रदर्शन, कई महिलाएं गिरफ़्तार

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के नामज़द विवादित जज ब्रेट कीवानोफ़ को अमरीकी सुप्रिम कोर्ट का जज बनाने के फ़ैसले के विरुद्ध सीनेट की इमारत में प्रविष्ट होने वाली मॉडल एमीली राट्जोस्की और कामेडियन एमी एशुमर सहित कई महिलाओं को गिरफ़्तार कर लिया गया।

ज्ञात रहे कि डोनल्ड ट्रम्प की ओर से सुप्रिम कोर्ट के लिए नामज़द जज ब्रेट कीवानोफ़ पर महिला डाक्टर क्रिस्टीन ब्लैसी फ़ोर्ड ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा है कि 36 साल पहले पढ़ाई के दौरान कीवानोफ़ ने एक कार्यक्रम के दौरान शराब के नशे में उन्हें यौन उत्पीड़न का निशाना बनाया था।

सीनेट की इमारत में घुसने से पहले सुप्रिम कोर्ट के बाहर दोनों प्रसिद्ध कलाकारों ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया था।

ज्ञात रहे कि अमरीकी सीनेट की ज्यूडिशयल कमेटी ने राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की ओर से नामज़द विवादित जज ब्रेट कीवानोफ़ को अमरीकी सुप्रिम कोर्ट का जज बनाने की मंज़ूरी दे दी जबकि एफ़बीआई की ओर से महिला की शिकायत पर यौन उत्पीड़न के मामले की जांच तक उनकी तैनाती का मामला रोक दिया गया।

कीवानोफ़ की मंज़ूरी के हवाले से अमरीकी अदालती सीनेट स्पष्ट रूप से दो भागों में विभाजित नज़र आया जहां 11 रिपब्लिकन सदस्यों ने राष्ट्रपति के नामज़द उम्मीदवार का समर्थन किया जबकि समस्त 10 डेमोक्रेट सदस्यों ने उनके विरोध में मतदान किया।

55 वर्षीय विवादित जज अमरीका की अमरीका की शीर्ष अदालत के लिए नामज़दगी का मामला अब फ़ुलकोर्ट में जाएगा जहां रिपब्लिकंस की संख्या कुछ कम है और डेमोक्रेट्स के 51 सदस्यों के मुक़ाबले में उनके सदस्यों की संख्या 49 है किन्तु इस दौरान मामला और भी रोचक हो गया जब एरीज़ोना से संबंध रखने वाले रिपब्लिकन सीनेट चीफ़ फ़्लिक ने फ़ुल सीने के वोट से पूर्व एक सप्ताह की छुट्टी का निवेदन कर दिया ताकि एफ़बीआई कीवानोफ़ के विरुद्ध आरोपों की जांच कर सके।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky