शेख़ ज़कज़की को अमेरिका, सऊदी अरब और इस्राईल आज़ाद करने नहीं दे रहे हैं।

शेख़ ज़कज़की को अमेरिका, सऊदी अरब और इस्राईल आज़ाद करने नहीं दे रहे हैं।

नाइजीरिया के उच्च न्यायालय नें कहा था कि शेख़ ज़कज़की पर मुक़दमा चलाए बिना जेल में बंद रखना मानवाधिकारों का हनन और देश के संविधान का उल्लंघन है।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना: रिपोर्ट के अनुसार शेख़ ज़कज़की को निर्दोष कैदी बनाए हुए लगभग दो साल का समय बीत चुका है और न्यायालय की ओर से आज़ादी के ऑर्डर के बावजूद अमेरिका, सऊदी अरब और इस्राईल शेख़ ज़कज़की को आज़ाद करने नहीं दे रहे हैं।
गौरतलब है कि नाइजीरिया के उच्च फेडरेल न्यायालय ने अपने फ़ैसले में कहा था कि नाइजीरिया की इस्लामी क्रांति के प्रमुख शेख़ इब्राहीम ज़कज़की और उनकी पत्नी को पैंतालीस दिन में बिना किसी शर्त के आज़ाद कर दिया जाए, नाइजीरिया के उच्च न्यायालय नें कहा था कि शेख़ ज़कज़की पर मुक़दमा चलाए बिना जेल में बंद रखना मानवाधिकारों का हनन और देश के संविधान का उल्लंघन है।
ज्ञात रहे कि इस्लामी क्रांति के प्रमुख शेख़ ज़कज़की का स्वास्थय लगातार बिगड़ता जा रहा है और नाइजारिया शासन उनको इलाज की सुविधाऐं नहीं दे रहा।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky