कोई हमलावर, यमन से बच कर नहीं जाएगाः यमनी सेना

कोई हमलावर, यमन से बच कर नहीं जाएगाः यमनी सेना

यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह ने कहा है कि यमन में हमला सऊदी अरब के युद्ध की आग अमरीका के कहने पर भड़की हुई है किन्तु इसके बावजूद युद्ध के मैदान में यमन की सेना और स्वयं सेवी बलों को सफलता मिल रही है।

यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह के प्रवक्ता मुहम्मद अब्दुस्सलाम ने अपने एक बयान में कहा कि युद्ध के मोर्चे पर स्थिति किसी भी प्रकार से चिंता का कारण नहीं है।  उनका कहना था कि यमन की जनता अपने देश की रक्षा के लिए दुनिया के शक्तिशाली देशों से युद्धरत है।

अंसारुल्लाह के प्रवक्ता ने कहा कि हमला दुश्मन ही पश्चिमी क्षेत्र अलहुदैदा में हालिया युद्ध के परिणाम के ज़िम्मेदार हैं। उनका कहना था कि दुश्मन अलहुदैदा प्रांत में आवासीय क्षेत्रों और आधारभूत नागरिक ढांचों को तबाह व बर्बाद कर रहा है। 

यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह के प्रवक्ता ने कहा कि यमन की निर्दोष जनता के जनसंहार का ज़िम्मेदार अमरीका है क्योंकि यमन में जो युद्ध जारी है वह अमरीका के ही कहने पर है। 

उन्होंने यमन युद्ध में अमरीका के हथियारों के सऊदी अरब द्वारा दुरुपयोग का उल्लेख करते हुए कहा कि यमन में जितने भी अपराध हो रहे हैं इन सबका ज़िम्मेदार अमरीका है और वाशिंग्टन की जितनी भी निंदा की जाए कम है।

दूसरी ओर यमन की सशस्त्र सेना ने एक बयान जारी करके कहा कि यमन के पश्चिमी तट की ताज़ा लड़ाइयों में तेज़ी के दौरान अब तक एक हज़ार हमलावर सऊदी सैनिक मारे गये और घायल हो चुके हैं।

यमन की सशस्त्र सेना ने साथ ही यह भी कहा कि सऊदी अरब के लिए सप्लाई लाइन जबलिया और तहीता के क्षेत्रों में चार ओर से काट दी गयी है।

सऊदी अरब और उसके नेतृत्व वाले गठजोड़ की कड़ी घेराबंदी के बावजूद यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों की प्रतिरक्षा शक्ति में दिन प्रतिदिन वृद्धि होती जा रही है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky