अफगानिस्तानः नहीं रुक रहा है आतंकवादियों का तांडव, दो हमलों में दर्जनों हताहत व घायल

अफगानिस्तानः नहीं रुक रहा है आतंकवादियों का तांडव, दो हमलों में दर्जनों हताहत व घायल

अफगानिस्तान में राजधानी काबुल और हेरात में हुए आतंकी हमलों में कम से कम 16 लोग मारे गये और दसियों घायल हुए हैं।

काबुल पुलिस के प्रवक्ता ने बताया है कि रविवार को अफगानिस्तान के राष्ट्रीय नायक, अहमद शाह मसऊद की बरसी के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में आत्मघाती हमले में 7 लोग मारे गये और 25 अन्य घायल हो गये। 

सूत्रों के अनुसार काबुल में  एक मोटरसाइकिल सवार ने  अहमद शाह मसऊद की बरसी के जूलुस से स्वंय को टकरा दिया और जिसके बाद भीषण धमाका हुआ। 

किसी ने इस हमले की ज़िम्मेदारी स्वीकर नहीं की है। रविवार को अफगानिस्तान में अहमद शाह मसऊद की बरसी की वजह से छुट्टी थी। 

अहमद शाह मसऊद, 9 सितम्बर सन 2001 में तखार में दो अरब मूल के हमलावरों द्वारा तखार में मारे गये थे। 

दोनों हमलावर, पत्रकारों के रूप में अहमद शाह मसऊद से मिलने गये थे। 

बाद में बताया गया कि इस हमले के पीछे अलक़ायदा का हाथ था। 

इसी मध्य  अफगानिस्तान के  पश्चिमी हेरात प्रांत  में  एक चेक पोस्ट  पर हमला हुआ जिसमें  9 अफगान सुरक्षा अधिकारी मारे गए और 6 घायल हो गए।

एसोसिएटेड प्रेस की  रिपोर्ट के अनुसार, अफगान अधिकारियों ने पश्चिमी प्रांत हेरात में चेक पोस्ट पर हमले और हत्या की पुष्टि की।

प्रांतीय सरकार की प्रवक्ता  ने   बताया  कि  फायरिंग 10 सैनिकों की मौत हो गई थी और 5 घायल हो गए थे।

यह स्पष्ट है कि तालिबान  के विरुद्ध  लड़ाई के कारण, अफगानिस्तान में हिंसा  बढ़ी  है  और सन  2014 में, लगभग 3888 अफगान नागरिक मारे गए थे, जो संयुक्त राष्ट्र के  अनुसार सबसे खराब वर्ष था।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky