मोबाइल के द्वारा फैलने वाली बीमारियाँ।

  • News Code : 656487
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल के नतीजे में अलग अलग तरह की बीमारियां सामने आती हैं जो इन्सान की सेहत के लिए बहुत ख़तरनाक हो सकती हैं।

आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल के नतीजे में अलग अलग तरह की बीमारियां सामने आती हैं जो इन्सान की सेहत के लिए बहुत ख़तरनाक हो सकती हैं।
पिछले कुछ साल और प्रौद्योगिकी के काल में मोबाइल फ़ोन, टैबलेट और लैपटॉप, आज की ज़िन्दगी का अटूट हिस्सा बन गए हैं। संपर्क के नए साधन अपने साथ अनेक प्रकार की बीमारी भी लाए हैं जो दीर्घावधि में इन्सान के लिए ख़तरनाक हैं।मोबाइल को सोते वक़्त क़रीब रखने के कारण नींद में रुकावट होती है और इसके जारी रहने से अनेक प्रकार की लंबे समय तक रहने वाली बीमारियों का ख़तरा रहता है।मोबाइल पर बार बार मैसेज लिखने और भेजने से रीढ़ की हड्डी पर बहुत दबाव पड़ता है। चूंकि मैसेज लिखते व भेजते वक़्त व्यक्ति विशेष मुद्रा में होता है जिसका गर्दन और कांधे पर बुरा प्रभाव पड़ता है और इसी प्रकार रीढ़  की हड्डी के लिए भी अनेक प्रकार की मुश्किलें पैदा हो जाती हैं।डाक्टरों का मानना है कि मोबाइल से निकलने वाली किरणों से त्वचा पर झुर्रियां पड़ती हैं। इन किरणों से त्वचा के सेल मर जाते हैं और इसके नतीजे में त्वचा पर झुर्रिया पड़ती हैं।लैपटॉप, टैबलेट, और टेलीविजन जैसे संपर्क के साधन इन्सान की आंख की रौशनी को कमज़ोर कर देते हैं।शोधकर्ताओं का मानना है कि हाथ में मोबाइल लगातार पकड़े रहने से उंगलियों और हाथ के शिनाओं में सूजन आ जाती है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky